Follow @nandinibooks
IISGNII गुरुर ब्रह्मा गुरुर विष्णु गुरुर देवो महेश्वरः गुरुः साक्षात्परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नमः

भक्तिसुधा (Bhakti-Sudha)-GITA PRESS

200.00 200.00

इस पुस्तक में श्री स्वामी करपात्री जी महाराज ने सनातन-धर्म के प्रधान अंग देवोपासना के रहस्यों का विशद विवेचन किया है। भक्तिसुधा चार खंडों में विभक्त है - श्री कृष्णलीला दर्शन, देवोपासना तत्त्व, भक्ति तत्त्व तथा ज्ञान तत्त्व।

Reviews

Follow @nandinibooks