Follow @nandinibooks
IISGNII गुरुर ब्रह्मा गुरुर विष्णु गुरुर देवो महेश्वरः गुरुः साक्षात्परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नमः

ईशादि नौ उपनिषद् (Ishadi Nau Upanishad)-GITA PRESS

180.00 180.00

इस पुस्तक में ईश, केन, कठ, मुण्डक, माण्डूक्य, ऐतरेय, तैत्तिरीय तथा श्वेताश्वतर उपनिषद्के मन्त्र, मन्त्रानुवाद, शाङ्करभाष्य और हिन्दी में भाष्यार्थ एक ही जिल्द में प्रकाशित किया गया है। यह पुस्तक संस्कृत के विद्यार्थियों तथा ब्रह्मज्ञान के जिज्ञासुओं के लिये विशेष उपयोगी है।

The book comprises nine Upanishads such as Isha, Ken, Kath, Mundak, Mandukya, Aitareya, Taittiriya and Shwetashwatar with text and its translation and commentary by Shankaracharya in Hindi. The book is useful for the students of Sanskrit and the person desirous of having the knowledge about Brahma.

Reviews

Follow @nandinibooks